सिविल सर्विसेज की तैयारी कैसे करें? MPPSC

सिविल सर्विसेज की तैयारी कैसे करें?

‘सिविल सेवा’ की परीक्षा प्रतिवर्ष संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित किया जाता है।यह एक त्रि-स्तरीय परीक्षा है,

जिसमें छात्रों को तीन चरणों से होकर गुजरना पड़ता है-
1.प्रारंभिक परीक्षा, 2.मुख्य परीक्षा और 3.साक्षात्कार।

1.प्रारंभिक परीक्षा :

इस परीक्षा में दो प्रश्नपत्र होता है – ‘सामान्य अध्ययन’ और ‘सिविल सेवा बोधगम्यता परीक्षा(CSAT)’। प्रारंभिक परीक्षा में छात्रों को मुख्य परीक्षा में बैठने के लिए उत्तीर्ण करना ही जरुरी होता है और इसका अंक मेरिट लिस्ट में भी नहीं जुड़ता है।

◆सामान्य अध्ययन –

०NCERT की कक्षा 6–12 तक की पाठ्यपुस्तक।

०प्राचीन भारत का इतिहास – रामशरण शर्मा।

०स्पेक्ट्रम प्रकाशन की प्राचीन,मध्यकालीन और आधुनिक इतिहास।

०भारतीय राजनीति – एम. लक्ष्मीकांत।

०भारत का संविधान – डी.डी. बसु।

०भारत का भूगोल – माजिद हुसैन।

०विश्व का भूगोल – माजिद हुसैन।

०भौतिक भूगोल – सविंद्र सिंह।

०भारतीय अर्थशास्त्र – रमेश सिंह।

०भारतीय अर्थशास्त्र – दत्त एवं सुंदरम।

इसके अतिरिक्त प्रतिदिन एक राष्ट्रीय समाचार पत्र(द हिन्दू,इंडियन एक्सप्रेस,नवभारत टाइम्स) को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना ले।प्रकाशन विभाग द्वारा प्रकाशित पत्रिका ‘योजना’ एवं ‘कुरुक्षेत्र’ और साथ ही ‘विज्ञान प्रगति’ एवं ‘साइंस रिपोर्टर’ पत्रिका का नियमित अध्ययन करे।

◆सिविल सेवा बोधगम्यता परीक्षा (CSAT) –

०संख्यात्मक अभियोग्यता – अरुण शर्मा।

०संख्यात्मक अभियोग्यता – आर.एस. अग्रवाल।

०तर्कशक्ति – आर.एस. अग्रवाल।

इसके अतिरिक्त अरिहंत प्रकाशन की CSAT श्रृंखला की पुस्तक का भी हो सके तो अध्ययन करे।

2.मुख्य परीक्षा :

इस पुरे परीक्षा में किसी की भी सफलता मुख्या परीक्षा पर ही निर्भर है।मुख्य परीक्षा में सात प्रश्नपत्र होते है और यह 1750 अंको की होती है।इसमें सामान्य अध्ययन के चार प्रश्नपत्र,वैकल्पिक विषय के दो प्रश्न पत्र और निबंध का एक पत्र होता है।

◆सामान्य अध्ययन –

इसे चार भागों में बांटा गया है —

●भारतीय इतिहास एवं संस्कृति,विश्व का इतिहास एवं भूगोल,हमारा समाज (GS प्रश्नपत्र-1)-

#आधुनिक भारत का इतिहास – विपिन चंद्र।

०भारत का स्वतंत्रता संघर्ष – विपिन चंद्र।

०गांधी के बाद भारत – रामचंद्र गुहा

०आजादी के बाद भारत – सोनाली बंसल

०विश्व इतिहास – अर्जुन देव।

०आधुनिक विश्व का इतिहास – नार्मन लोवे।

०विश्व इतिहास – जैन एवं माथुर।

०विश्व इतिहास का सर्वेक्षण – दीनानाथ वर्मा,शिव कुमार सिंह।

#भारत में सामाजिक समस्याएं – राम आहूजा।

०आधुनिक भारत में सामाजिक परिवर्तन – एम.एन. श्रीनिवास।

●भारतीय संविधान,राजव्यवस्था,सामाजिक न्याय,अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध (GS प्रश्नपत्र- 2)-

०हमारा संविधान – सुभाष कश्यप।

०भारत में शासन-व्यवस्था – एम. लक्ष्मीकांत।

०भारत में शासन-व्यवस्था – एम. कार्तिकेय।

०अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध – पावनीत सिंह।

०पैक्स इंडिका – शशि थरूर।

०भारत एवं विश्व – सुरेंद्र कुमार।

●प्रौधौगिकी,आर्थिक विकास,जैव-विविधता,पर्यावरण,सुरक्षा एवं आपदा प्रबंधन (GS प्रश्नपत्र- 3)-

०आतंरिक सुरक्षा – एम.कार्तिकेय।

०भारत में आंतरिक सुरक्षा की चुनौतियां – अशोक कुमार।

०भारत की आंतरिक सुरक्षा – राजकुमार।

०भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा – बाजपेई।

●नीतिशास्त्र,सत्यनिष्ठा और अभिरुचि (GS प्रश्नपत्र- 4) –

०नीतिशास्त्र,सत्यनिष्ठा और अभिरुचि – नीरज कुमार।

०नीतिशास्त्र,सत्यनिष्ठा और अभिरुचि – सुब्बाराव।

०नीतिशास्त्र,सत्यनिष्ठा और अभिरुचि – एम. कार्तिकेय।

◆निबंध –

निबन्ध भी अन्य प्रश्नपत्रों की भांति 250 अंक का होता है।अगर कोई छात्र ईमानदारी पूर्वक रोज समाचारपत्र का अध्ययन करे तो वो इस पत्र में अच्छे अंक ला सकता है।इसकी तैयारी हेतु आपको रोज संपादकीय पृष्ठ को अच्छे से पढ़ना है और ज्वलंत मुद्दों पर खुद से भी लिखने का प्रयास करना है।

० निबंध दृष्टि – विकास दिव्यकीर्ति एवं निशांत जैन(AIR-13,2017)

० 151 निबंध – अरिहंत प्रकाशन।

० चयनित समकालीन निबंध – सौमित्र मोहन।

० #सिविल सेवा के लिए निबंध – पुलकित खरे।

◆#वैकल्पिक विषय –

आपको मेरिट सूची में आने में इसकी भूमिका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।इसमें दो प्रश्नपत्र है,जिनका कुल योग 500 अंक है।बहुत सारे छात्र अपनी वैकल्पिक विषय के सहायक को अत्यंत ही चिंतित होते हैं।

3.#साक्षात्कार –

यह परीक्षा का सबसे अंतिम चरण है और यह 275 अंको का होता है।इसमें भावी सिविल सेवकों का व्यक्तित्व परीक्षण किया जाता है और उनके प्रशाशकिय गुणों को देखा जाता है।इसके लिए ज्यादा हतोत्साहिटी होने की आवश्यकता नहीं है।क्योंकि,अगर आपने लिखित परीक्षा में अच्छा स्कोर किया है तो यहाँ काम अंको के बावजूद आप मेरिट लिस्ट में अपनी जगह बना सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *